धंधा पानी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

नेशनल पेंशन सिस्टम से रिटायरमेंट में कितने ठाठ?

  • 17 नवंबर 2018

नेशनल पेंशन सिस्टम एक सरकारी योजना है, जिसे जनवरी 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए लॉन्च किया गया था. बाद में साल 2009 में इसे सभी सेक्शन के लिए खोल दिया गया.

यह स्कीम सब्सक्राइबर्स को रोजगार के दौरान अपनी सैलरी का एक हिस्सा पेंशन अकाउंट में जमा करने का मौका देती है. रिटायर होने पर सब्सक्राइबर यह पैसा एक साथ वापस पा सकते हैं.

एनपीएस अकाउंट खुलवाने के लिए पॉइंट ऑफ प्रेजेंस (पीओपी) बनाए हैं. लगभग सभी सरकारी और प्राइवेट बैंकों को पीओपी बनाया गया है. 65 साल की उम्र तक कोई भी भारतीय नागरिक एनपीएस में अकाउंट खोल सकता है.इस पेंशन फंड के निवेशकों का पैसा शेयर और बॉन्ड मार्केट में लगाया जाता है.

मुनाफ़ा बाजार के उतार-चढ़ाव पर निर्भर होता है. ऐसे लोग जो सरकारी नौकरी में नहीं है और उनकी उम्र 50 साल से कम है वो अपनी च्वाइस से शेयर बाज़ार में निवेश की सीमा 75 फ़ीसदी तक कर सकते हैं. हालाँकि बाद में ये सीमा ऑटोमैटिक 50 फ़ीसदी के स्तर पर आ जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)