दिमाग़ी चोट का इलाज
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

दिमाग़ी चोट का इलाज

  • 22 फरवरी 2019

अगर सही समय पर दिमाग़ी चोट का इलाज ना कराए जाए तो इससे बच्चे को पर्सनालिटी डिसऑर्डर तक हो सकता है. हो सकता है कि उसका व्यवहार हिंसक हो जाए या. वो अलग थलग रहने लगें. लेकिन अब ब्रिटेन का एक संस्थान इन बच्चों की एक अलग तरह से मदद कर रहा है ताकि वो सामान्य ज़िंदगी जी सकें. ये आयडिया हॉन्ग कॉन्ग और जापान में भी अपनाया जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे