मोदी सरकार से क्यों हैं नाराज़ पड़ोसी नेपाल के लोग
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मोदी सरकार से क्यों हैं नाराज़ पड़ोसी नेपाल के लोग

  • 14 मई 2019

नरेंद्र मोदी ने जब पांच साल पहले देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी तो सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षों को शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया था.

उस समारोह में भारत के पड़ोसी देश नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला भी आए थे और उम्मीद बंधी थी कि भारत और नेपाल के रिश्ते मोदी सरकार में एक नई ऊंचाई पर पहुंचेंगे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

बीते पांच सालों में दोनों देशों के रिश्ते आखिर कहां पहुंचे हैं और अब वहां के लोग भारत के चुनाव को किस नज़रिए से देख रहे हैं.

देखिए काठमांडू से बीबीसी संवाददाता सुरेंद्र फ़ुयाल की ये ख़ास रिपोर्ट.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे