छेड़खानी का विरोध करने गए पिता की हत्या की कहानी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

छेड़खानी का विरोध करने गए पिता की हत्या की कहानी

  • 16 मई 2019

अर्चना (बदला हुआ नाम) के पिता ने अपनी बेटी की सुरक्षा के लिए आवाज़ उठाई लेकिन बदले में उन्हें जान गंवानी पड़ी. एक कहासुनी हत्या में बदल गई.

ये घटना दिल्ली में चुनाव से एक दिन पहले राजधानी दिल्ली में मोती नगर के पास बसई दारापुर इलाक़े की है. 11 मई (शनिवार) की रात को अर्चना के पिता स्कूटर से उन्हें लेकर अस्पताल से लौट रहे थे.

गली में रास्ता देने को लेकर कुछ लड़कों से उनकी कहासुनी हो गई. लड़कों ने बेटी को अपशब्द भी कहे. तब वो बेटी को घर छोड़कर उन लड़कों के परिवार से शिकायत करने गए. लेकिन, वहां बात बढ़ गई और दोनों पक्षों के बीच झगड़ा हो गया.

इसी झगड़े में लड़कों ने बेटी के पिता पर चाकू से हमला कर दिया और उनकी जान चली गई. पिता को बचाने आया छोटा बेटा भी इस हमले में घायल हो गया. पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को पकड़ा है. मामले में दो समुदायों के शामिल होने के कारण इसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश भी की गई थी. इसके बाद से परिवार का क्या हाल है और इलाक़े की क्या स्थिति है, पूरी रिपोर्ट देखिए वीडियो में.

वीडियो: कमलेश/ मनीष जालुई

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे