हॉन्ग कॉन्ग में एक क़ानून के ख़िलाफ़ भारी विरोध प्रदर्शन
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

हॉन्गकॉन्ग में इस क़ानून से क्यों है भारी नाराज़गी

  • 11 जून 2019

हॉन्ग कॉन्ग में लोग एक प्रत्यर्पण कानून का विरोध कर रहे हैं जिससे वहाँ के लोगों को मुक़दमे के लिए चीन भेजा जा सकता है. विरोधियों को डर है इससे राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाया जा सकता है.

हालाँकि चीन के समर्थन से हाँगकाँग में सत्ता की प्रमुख कैरी लैम का कहना है विरोध के बावजूद बिल को वापस नहीं लिया जाएगा. दरअसल इस प्रत्यर्पण क़ानून के तहत अपराध के संदिग्धों को चीन में प्रत्यार्पित किया जाएगा जहां उनपर मुक़दमा चलेगा. पर इस क़ानून के विरोध करनेवालों का मानना है कि इससे चीन को हांग कांग में मौजूद अपने विरोधियों को टारगेट करने का मौका मिल जाएगा.

चीफ एक्ज़ीक्यूटिव कैरी लैम का कहना है कि इससे हांग कांग को मिली स्पेशन फ्रीडम पर असर नहीं पड़ेगा...पिलिस ने अब तक प्रदर्शन कर रहे 19 लोगों को गिरफ्तार किया है और 350 लोगों से पूछताछ भी हुई है

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)