कितनी मुश्किल है बच्चों के साथ मां-बाप की देखभाल
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कितनी मुश्किल है बच्चों के साथ मां-बाप की देखभाल

  • 18 जून 2019

बुज़ुर्गों के लिए काम करने वाले एक एनजीओ हेल्पएज इंडिया के एक हालिया सर्वे के मुताबिक 29 प्रतिशत लोगों को अपने घर के बुज़ुर्गों का ख्याल रखना बोझ की तरह लगता है. 15 प्रतिशत लोग तो ऐसे हैं जिन्हें ये बहुत बड़ा बोझ महसूस होता है.

ये लोग उस सैंडविच जेनरेशन से आते हैं जो कई ज़िम्मेदारियों से एकसाथ घिरे हैं. ये सर्वे 'टियर वन' और 'टियर टू' वाले 20 शहरों में किया गया था. इसमें 30 से 50 साल की उम्र के लोगों से बात की गई है.

हेल्पएज इंडिया के साल 2018 के एक सर्वे के मुताबिक क़रीब 25 प्रतिशत बुज़ुर्ग मानते हैं कि उनके साथ दुर्व्यवहार हुआ है.

बुज़ुर्गों की समस्याओं से ही जुड़ा एक पक्ष है सैंडविच जेनरेशन. क्या है ये सैंडविच जेनरेशन देखें वीडियो में-

वीडियो: कमलेश/ मनीष जालुई

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे