कारगिल: पाकिस्तान को क्यों हटानी पड़ी सेना?
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कारगिल: पाकिस्तान को क्यों हटानी पड़ी सेना?

  • 31 जुलाई 2019

कारगिल की जंग भारत और पाकिस्तान के बीच कोई सामान्य लड़ाई नहीं थी.

जब ये जंग लड़ी गई, उससे ठीक पहले भारत और पाकिस्तान के बीच अमन की बातें हो रही थीं, दोनों देशों को क़रीब लाने के लिए बस डिप्लोमेसी से लेकर सांस्कृतिक आदान-प्रदान के कई मोर्चे खोले गए थे.

लेकिन इन सबके बीच जब कारगिल की चोटियों पर घुसपैठ की ख़बरें आई तो अमन-चैन की ये बातें तोप-गोलों की आवाज़ों में दफ़न हो गईं.

शुरुआती हिचकिचाहट के बाद पाकिस्तान ने माना कि कारगिल की चोटियों पर कश्मीरी लड़ाकों के साथ उसके फ़ौजी भी हैं.

इस जंग के दौरान पाकिस्तान की सेना और राजनीतिक हुक्मरानों की क्या सोच थी.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कितने दबाव में था पाकिस्तान. आखिर किन वजहों से पाकिस्तान को कारगिल से हटानी पड़ी अपनी सेना.

इन सारे सवालों के जवाब के लिए देखिए पाकिस्तान से बीबीसी संवाददाता शुमाइला जाफ़री की रिपोर्ट.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे