इंदिरा गांधी को बहन मानते थे अराफ़ात
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

इंदिरा गांधी को बहन मानते थे अराफ़ात

  • 23 अगस्त 2019

जब भी कभी फलस्तीन के संघर्ष की बात होती है, तो वहां के नेता के तौर पर आज भी एक ही व्यक्ति की छवि सामने उभरती है, वो हैं यासिर अराफात.

शुरू में वो इजराइल के अस्तित्व के ख़िलाफ़ थे, लेकिन बाद में उन्होंने इसराइल के साथ ओसलो समझौता किया जिसके लिए उन्हें शांति के नोबेल पुरस्कार से भी नवाजा गया.

यासिर अराफ़ात की 90 वीं जयंती पर उन्हें याद कर रहे हैं रेहान फ़ज़ल आज की विवेचना में

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे