#Mentalhealth वो सबको हंसाती हैं लेकिन खुद बहुत तन्हा हैं
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

#Mentalhealth वो सबको हंसाती हैं लेकिन खुद बहुत तन्हा हैं

  • 12 अक्तूबर 2019

तृप्ति खामकर अपनी कॉमेडी से लोगों को खूब हंसाती हैं. वे तुम्हारी सुलु में अभिनय भी कर चुकी हैं. पेंटिंग का शौक रखती हैं. इनके कई प्रशंसक हैं.

लेकिन ये कितनी तन्हा है वो बहुत कम लोग जानते हैं

क्या लोगों को हंसाने वाला इंसान भी अकेलापन महसूस कर सकता है? जानिए उन्हीं से

रिपोर्टर – अनघा पाठक

शूट एडिट - पियूष

प्रोड्यूसर - सुशीला सिंह

(भारत में मानसिक सेहत एक ऐसा विषय है जिस पर खुलकर बात नहीं होती. बीबीसी की कोशिश लोगों को मेंटल हेल्थ के बारे में जागरुक करने की है. इस विशेष श्रृंखला में हम आपको कुछ ऐसे लोगों से मिलवाएंगे जो अकेलेपन और डिप्रेशन या फिर अन्य किसी मानसिक बीमारी का शिकार रहे हैं या जिन्होंने अपने घर में मौजूद मानसिक रोगियों की देखभाल करते हुए डिप्रेशन आदि का सामना किया है)

ये भी पढ़ें

मेंटल हेल्थ: भारत में 3.1 करोड़ लोगों पर एक हॉस्पिटल

कैसा होता है 'सबसे ख़ुशनुमा देश' में डिप्रेशन में होना?

BDD की शिकार किसी महिला से प्यार करना क्या मुश्किल है?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)