कश्मीर में मोबाइल फ़ोन से प्रतिबंध हटाने के बाद क्या हैं हालात
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कश्मीर में मोबाइल फ़ोन से प्रतिबंध हटाने के बाद क्या बदलेगा?

  • 14 अक्तूबर 2019

भारत प्रशासित कश्मीर में मोबाइल फ़ोन पर से प्रतिबंध हटाया जाना बहुत बड़ी घोषणा है और इससे लोगों को बड़ी राहत मिली है क्योंकि दस हफ़्तों से लोग परिवारवालों के संपर्क में नहीं थे. इसके अलावा कश्मीर से बाहर रह रहे लोगों को अपने घरों की ख़बर नहीं मिल रही थी.

इसके अलावा फ़ोन के न होने की वजह से मरीज़, छात्र भी बहुत प्रभावित थे. लोग अपने बच्चों को स्कूल इसलिए नहीं भेज रहे थे क्योंकि उनका स्कूल बसों के ड्राइवर और स्कूल के साथ कोई संपर्क नहीं था. अभी भी लोगों की मांग है कि इंटरनेट पर से प्रतिबंध हटाया जाए.

सरकार ने ख़ुद कहा है कि घाटी में 60 लाख फ़ोन उपभोक्ता हैं जिसमें से 40 लाख पोस्टपेड मोबाइल फ़ोन इस्तेमाल करने वाले हैं. 20 लाख लोग ऐसे हैं जो प्रीपेड का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन अभी भी संचार पर से प्रतिबंध पूरी तरह नहीं हटा है.

इसके अलावा अभी भी पूरे दिन दुकानें नहीं खुल रही हैं. भारत प्रशासित कश्मीर में क्या हाल है. इसके बारे में बीबीसी संवाददाता रियाज़ मसरूर बता रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)