पाक में 'अल्पसंख्यक मुसलमानों पर अत्याचार'
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

पाकिस्तान में 'अल्पसंख्यक मुसलमानों पर अत्याचार'

  • 11 जनवरी 2020

नागरिकता संशोधन क़ानून में मुसलमानों को शामिल ना किए जाने के पक्ष में भारत की ओर से तर्क दिए जाते हैं कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ़गानिस्तान में मुसलमानों के साथ ज़्यादती नहीं होती इसलिए उन्हें इसमें शामिल किए जाने का कोई मतलब नहीं.

लेकिन क्या ऐसा वाकई है. क्या पाकिस्तान में मुसलमानों के किसी समुदाय पर कोई अत्याचार नहीं होता. बीबीसी संवाददाता शुमाइला जाफ़री ने इस रिपोर्ट में ये जानने की कोशिश की.

बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)