मोनिता देवी: बॉक्सिंग क्यों छोड़ी? यह बताते हुए जिनकी आँखें भर आईं

मोनिता देवी: बॉक्सिंग क्यों छोड़ी? यह बताते हुए जिनकी आँखें भर आईं

भारत में खेल की दुनिया के जितने सितारे अपनी चमक बिखेरकर अपने लिए नई ऊंचाइयों को हासिल कर पाते हैं, उससे कहीं ज़्यादा खिलाड़ी ऐसे रह जाते हैं जिन्हें अपनी प्रतिभा के कद्रदान नहीं मिल पाते.

अब वजह भारत की सामाजिक व्यवस्था कही जाए या फिर खेलों के प्रति आम रुझान, महिलाओं के लिए परिस्थितियाँ सामान्य से ज़्यादा कठोर साबित होती हैं.

मोनिता देवी ऐसा ही एक उदाहरण हैं.

उन्होंने मैरी कॉम की ही श्रेणी में अपने खेल की शुरुआत की थी और उनका प्रदर्शन भी बहुत अच्छा था.

लेकिन पारिवारिक परिस्थितियों और मौजूदा व्यवस्थाओं की वजह से वे अपने सपनों को पूरा नहीं कर पाईं.

बीबीसी ने मोनिता से बात की और सुनी उनकी अब तक की कहानी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)