कोरोना वायरस: सैनिटाइज़र- मास्क कहीं ग़ायब, कहीं महंगे

कोरोना वायरस: सैनिटाइज़र- मास्क कहीं ग़ायब, कहीं महंगे

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक़ अब तक भारत में कोरोना वायरस के 29 मामले सामने आ चुके हैं.

ताज़ा मामले सामने आने के बाद मास्क और सेनेटाइज़र की बिक्री काफ़ी बढ़ गई है.

सरकार ने कोरोना से निपटने की तैयारियों के तमाम दावे किए हैं, लेकिन कई लोगों का कहना है कि उन्हें मार्केट में मास्क और सेनेटाइज़र नहीं मिल पा रहे हैं. कहीं मिल भी रहे हैं तो बहुत महंगे मिल रहे हैं.

हालांकि दुकानदारों का कहना है कि मांग बढ़ने की वजह से स्पलाई में कमी आई है, साथ ही कंपनियों ने माल की क़ीमत भी बढ़ा दी है.

बीबीसी ने दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग इलाक़ों में जाकर हालात का जायज़ा लिया और डॉक्टर से भी बात की कि आख़िर मास्क और सेनेटाइज़र का इस्तेमाल कर कोरोना से किस हद तक बचा जा सकता है?

वीडियो - गुरप्रीत सैनी / सदफ़ ख़ान

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)