BBC INVESTIGATION: जब जालसाज़ों को ही हैक कर लिया गया

BBC INVESTIGATION: जब जालसाज़ों को ही हैक कर लिया गया

बीबीसी की पड़ताल के बाद नई दिल्ली से सटे गुरुग्राम से चलने वाले एक स्कैम कॉल सेंटर पर पुलिस ने छापा मारा है. इस कॉल सेंटर से हज़ारों ब्रितानी नागरिकों के साथ धोखाधड़ी किए जाने के आरोप हैं.

बीबीसी के पैनोरामा कार्यक्रम ने कॉल सेंटर के सीसीटीवी की हैक की गई फ़ुटेज को प्रसारित किया था.

इसमें कॉल सेंटर के कर्मचारी काल्पनिक तकनीकी समस्याओं के समाधान के बदले लोगों से सैकड़ों पाउंड तक लेते दिखे थे.

कॉल सेंटर के मालिक अमित चौहान ने फ़र्ज़ीवाड़े के आरोपों से इनकार किया है. हालांकि उन्होंने बीबीसी के विस्तृत सवालों का जवाब नहीं दिया.

कॉल सेंटर पर पुलिस के छापे के बाद से अमित चौहान गुरुग्राम पुलिस की हिरासत में हैं.

चौहान को स्थानीय अदालत में पेश किया गया था जहाँ से उन्हें 14 दिन की न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है.

बीबीसी के पैनोरामा कार्यक्रम को 70 हज़ार कॉल की रिकॉर्डिंग भी मिली है, इनमें अमरीका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन के पीड़ितों के साथ ठगी की गई है.

भारतीय पुलिस ने ठगी का शिकार बने ब्रितानी लोगों से इमेल के ज़रिए शिकायत करने की अपील की है. पीड़ित Shocybergrg.pol-hry@gov.in इमेल पर शिकायत कर सकते हैं.

पैरी एडम्स उन पीड़ितों में शामिल हैं जो कंप्यूटर स्क्रीन पर फ़र्ज़ी चेतावनी दिखने के बाद ठगी का शिकार बने. चेतावनी में कहा गया था कि ये पोर्नोग्राफ़िक वायरस की वजह से हुआ है.

पैरी एडम्स का कहना है कि वो अपने सबूतों के साथ पुलिस से संपर्क करेंगे.

वो कहते हैं, "मुझे लगता है कि पैनोरामा ने शानदार काम किया है. उन्हें पकड़वाया है जो अपने आप को क़ानून की पहुंच से दूर समझते थे. ऐसा कुछ नहीं है जो उसे कहीं और दोबारा काम शुरू करने से रोक सके, मेरी रूचि ये जानने में है कि अदालत में क्या होता है."

भारत में क़ानूनी रूप से संचालित कॉल सेंटरों में लाखों लोग काम करते हैं. लेकिन ऐसे भी कई कॉल सेंटर हैं जो ठगी करते हैं.

भारतीय पुलिस का कहना है कि ये ऐसा अपराध है जिसमें सज़ा दिलवाना मुश्किल होता है क्योंकि पीड़ित विदेशों में रहते हैं और अदालत में सबूतों की ज़रूरत होती है.

आरोप तय करने के लिए पुलिस को पीड़ितों से सबूत चाहिए होते हैं.

पैनोरामा को अपने सबूत एक ऑनलाइन कार्यकर्ता से मिले थे जो अपनी पहचान जिम ब्राउनिंग बताते हैं.

जिम ने कॉल सेंटर के कंप्यूटरों को हैक करके सीसीटीवी अपने नियंत्रण में ले लिए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)