भारत के चीनी ऐप्स पर बैन लगाने पर अमरीका क्या बोला?

भारत के चीनी ऐप्स पर बैन लगाने पर अमरीका क्या बोला?

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने भारत की ओर से 59 मोबाइल ऐप्स को बैन करने के क़दम की सराहना की है. उन्होंने कहा है कि भारत ने अपनी 'सुरक्षा' को देखते हुए ये क़दम उठाए हैं.

पॉम्पियो ने पत्रकारों से कहा, "चीन के कुछ मोबाइल ऐप्स पर भारत द्वारा लगाए गए प्रतिबंध का हम स्वागत करते हैं." उन्होंने कहा कि इस क़दम से "भारत की एकता और राष्ट्रीय सुरक्षा को मज़बूती मिलेगी."

अमरीकी विदेश मंत्री ने कहा, "चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की क्रूरता बाक़ी दुनिया पर भी असर डालती है. हम भारत द्वारा चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सर्विलांस स्टेट के ख़तरे को देखते हुए कुछ मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का स्वागत करते हैं. सुरक्षित ऐप्स को बढ़ावा देने का क़दम भारत की संप्रभुता को बढ़ावा देगा. इससे भारत की एकता और राष्ट्रीय सुरक्षा को भी मज़बूती मिलेगी, जैसा कि भारत सरकार ने ख़ुद कहा है."

भारत सरकार ने 59 ऐप्स को देश की सुरक्षा, संप्रभुता और एकता व यूज़र्स के डेटा एवं निजता के लिए हानिकारक बताते हुए प्रतिबंधित कर दिया है. इनमें टिकटॉक, शेयरइट और कैमस्कैनर जैसे पॉप्युलर चीनी ऐप शामिल थे. पिछले दिनों पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों की जान जाने के बाद भारत में कुछ समूहों और सोशल मीडिया यूज़र्स ने चीनी सामान के बहिष्कार की मुहिम छेड़ी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)