मुथुलक्ष्मी रेड्डीः जिन्होंने देवदासी प्रथा हटाने में निभाई अहम भूमिका

मुथुलक्ष्मी रेड्डीः जिन्होंने देवदासी प्रथा हटाने में निभाई अहम भूमिका

बीबीसी हिंदी 10 ऐसी महिलाओं की कहानी ला रहा है, जिन्होंने लोकतंत्र की नींव मज़बूत की.

उन्होंने महिलाओं के अधिकारों को अपनी आवाज़ दी. वे समाज सुधारक थीं और कई महत्वपूर्ण पदों पर पहुँचने वाली वे पहली महिला बनीं.

तमिलनाडु से आने वाली डॉ मुथुलक्ष्मी रेड्डी ने देवदासी प्रथा के विरोध में आवाज़ उठाई और मद्रास विधायिका परिषद में कई क़ानून पारित करने में मदद की.

वो मद्रास मेडिकल कॉलेज में सर्जन बनने वाली पहली महिला भी बनीं.

उन्होंने अडयार कैंसर इंस्टिट्यूट बनवाया, जिसमें आज भी कैंसर के मरीज़ों का इलाज होता है.

डॉ. मुथुलक्ष्मी को मेडिकल और समाज सेवा के लिए पद्म भूषण से भी नवाज़ा गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)