इसराइल के समझौते के बाद यूएई पर तुर्की और ईरान के गंभीर आरोप

इसराइल के समझौते के बाद यूएई पर तुर्की और ईरान के गंभीर आरोप

पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू अख़बारों में इस हफ़्ते कोरोना के अलावा भारत के कश्मीर और यूएई-इसराइल समझौते से जुड़ी ख़बरें सुर्ख़ियों में थीं.

इसराइल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच गुरुवार को हुए ऐतिहासिक समझौते की ख़बर ने जितनी सुर्ख़ियां इसराइल और यूएई में बटोरी, पाकिस्तान में भी ये ख़बर कमोबेश उतनी ही छाई रही.

इसराइल और यूएई के समझौते के मुताबिक़ इसराइल वेस्ट बैंक के बड़े हिस्सों को मिलाने की अपनी योजना फ़िलहाल स्थगित कर देगा और दोनों देशों के बीच राजनयिक रिश्ते शुरू हो जाएंगे.

अख़बार जंग ने सुर्ख़ी लगाई है, "मुस्लिम दुनिया विभाजित, तुर्की और ईरान की तीव्र, पाकिस्तान की सधी हुई प्रतिक्रिया, नज़रें सऊदी अरब पर."

अख़बार लिखता है कि इसराइल और यूएई के बीच हुए समझौते ने पूरी इस्लामी दुनिया को आपस में बांट दिया है. तुर्की और ईरान ने इस समझौते के कारण यूएई पर फ़लस्तीनी हितों के साथ ग़द्दारी करने का आरोप लगाया है.

स्टोरी: इक़बाल अहमद

आवाज़ और एडिटिंग: काशिफ़ सिद्दीक़ी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)