यासिर अराफ़ात: फ़लस्तीनी नेता जो इंदिरा गांधी को अपनी बहन मानते थे

यासिर अराफ़ात: फ़लस्तीनी नेता जो इंदिरा गांधी को अपनी बहन मानते थे

जब भी कभी फलस्तीन के संघर्ष की बात होती है, तो वहां के नेता के तौर पर आज भी एक ही व्यक्ति की छवि सामने उभरती है, वो हैं यासिर अराफात.

शुरू में वो इजराइल के अस्तित्व के ख़िलाफ़ थे, लेकिन बाद में उन्होंने इसराइल के साथ ओसलो समझौता किया जिसके लिए उन्हें शांति के नोबेल पुरस्कार से भी नवाजा गया. यासिर अराफ़ात को याद कर रहे हैं रेहान फ़ज़ल आज की विवेचना में.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)