लीबिया में ड्रोन हमले के पीछे था संयुक्त अरब अमीरात का हाथ

लीबिया में ड्रोन हमले के पीछे था संयुक्त अरब अमीरात का हाथ

बीबीसी को इस बात के पक्के सबूत मिले हैं कि इस साल जनवरी में लीबिया की राजधानी त्रिपोली में सैन्य अकादमी पर ड्रोन से जो हमला हुआ था, उसके पीछे संयुक्त अरब अमीरात का हाथ था.

इस हमले में 26 निहत्थे कैडेट्स की मौत हो गई थी. उस हमले के समय स्वयंभू लीबियन नेशनल आर्मी या एलएनए ने त्रिपोली की घेराबंदी की हुई थी.

हालांकि, एलएनए ने हमले में अपना हाथ न होने की बात कही थी.

मगर बीबीसी की पड़ताल में इस बात के सबूत मिले हैं कि कैडेट्स को यूएई के ड्रोन से दाग़ी गई मिसाइल से निशाना बनाया गया था.

यूएई पहले कहता रहा है कि लीबिया में चल रहे संघर्ष में वह दख़ल नहीं दे रहा.

हम जो रिपोर्ट आपको दिखाने जा रहे हैं उसकी कुछ तस्वीरें आपको विचलित कर सकती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)