राजस्थान के भगत सिंह शेखावत जिन्होंने दोनों हाथ न होने के बाद भी हार नहीं मानी

राजस्थान के भगत सिंह शेखावत जिन्होंने दोनों हाथ न होने के बाद भी हार नहीं मानी

यह हैं सीकर ज़िले के 24 वर्षीय भरत सिंह शेखावत. पहले ही प्रयास में भरत का सेलेक्शन राजस्थान सरकार में कृषि पर्यवेक्षक पद पर हुआ है. महज़ 6 वर्ष की आयु में इलाज के दौरान इनके दोनों हाथ काटने पड़े. हाथ गंवाने के बावजूद भरत ने हार नहीं मानी और पैरों से ही लिखना, फ़ोन और कम्प्यूटर चलाने के साथ ही रोज़मर्रा के काम करना सीखा. 2016 स्टेट पैरा ओलंपिक गेम में भरत ने 10 किमी में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता है.

वीडियो: मोहर सिंह मीणा, बीबीसी हिन्दी के लिए

एडिटिंग: रुबाइयत बिस्वास