मैक्रों को लेकर तुर्की के बाद ईरान-पाकिस्तान ने खोला मोर्चा

मैक्रों को लेकर तुर्की के बाद ईरान-पाकिस्तान ने खोला मोर्चा

फ़्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रों के ख़िलाफ़ कई देशों में ग़ुस्सा बढ़ता जा रहा है. पैग़ंबर मोहम्मद के विवादित कार्टून दिखाने के फ़ैसले का बचाव करने के कारण कई अरब देशों ने मैक्रों की खुलकर निंदा की है.

सोमवार को पाकिस्तान और ईरान की संसद ने भी एक प्रस्ताव पारित कर मैक्रों की आलोचना की. पाकिस्तान की संसद ने तो फ़्रांस से अपना राजदूत वापस बुलाने की माँग की है. जबकि ईरान की संसद का कहना है कि अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर पैग़ंबर मोहम्मद का अपमान फ़्रांसीसी सरकार के रुख़ पर सवाल उठाता है.

पिछले दिनों फ़्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रों ने पैग़ंबर मोहम्मद के कार्टून दिखाने के एक फ़्रांसीसी शिक्षक के फ़ैसले का समर्थन किया था. सैमुएल पैटी नाम के इस शिक्षक की हत्या कर दी गई थी. इसके बाद फ़्रांस में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन भी हुए थे.

स्टोरी: टीम बीबीसी हिन्दी

आवाज़: भूमिका राय

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)