अख़बार बांटती सास-बहू की जोड़ी

अख़बार बांटती सास-बहू की जोड़ी

चाहे मौसम कोई भी मुश्किल कितनी भी हो महामारी का दौर ही क्यों ना हो दो महिलाएं किसी चीज़ की परवाह नहीं करतीं और अपना काम करती रहती हैं.

मंदाताई और उनकी सास शांताबाई शिंदे पिछले 15 साल से अख़बार बांट रही हैं.

महाराष्ट्र के कोल्हापुर ज़िले के एक छोटे से गांव की रहने वाली सास बहू की ये जोड़ी हौसले की मिसाल बन गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)