रजनीकांत: राजनीति में आने में जिन्हें 25 साल लग गए...

रजनीकांत: राजनीति में आने में जिन्हें 25 साल लग गए...

अभिनेता रजनीकांत ने जनवरी 2021 में अपनी पॉलिटिकल पार्टी शुरू करने का ऐलान किया है. उनकी पार्टी तमिलनाडु विधानसभा के लिए चुनाव लड़ेगी. रजनीकांत के समर्थक नब्बे के दशक से इस घोषणा का इंतज़ार कर रहे थे.

रजनीकांत की राजनीति में रूचि के बारे में तमिलनाडु के लोगों को पहली बार साल 1996 में पता चला. उस समय जयललिता तमिलनाडु की मुख्यमंत्री थीं. उनके दत्तक पुत्र वीएन सुधाकरण के विवाह समारोह ने देश भर में बेहिसाब ख़र्च की वजह से सुर्ख़ियां बटोरी थीं.

रजनीकांत ने तब खुलकर कहा था कि सरकार में बहुत भ्रष्टाचार है और इस तरह की सरकार को सत्ता में नहीं होना चाहिए. वैसे साल 1995 में रजनीकांत ने पहली बार किसी राजनीतिक मुद्दे पर अपनी राय ज़ाहिर की थी.

एमजीआर कड़गम पार्टी के नेता आरएम वीरप्पन की मौजूदगी में एक समारोह में रजनीकांत ने तमिलनाडु में 'बम-कल्चर' के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में फैले 'बम-कल्चर' की ज़िम्मेदारी राज्य की सरकार को लेनी चाहिए.

स्टोरी: भरनी धरन

आवाज़ और वीडियो एडिटिंग: काशिफ़ सिद्दीक़ी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)