दो साल में जीपीएस से 'टोल प्लाज़ा फ़्री' कैसे होगा भारत?

दो साल में जीपीएस से 'टोल प्लाज़ा फ़्री' कैसे होगा भारत?

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की है कि अगले दो सालों में भारत 'टोल प्लाज़ा फ़्री' हो जाएगा. हालांकि आपको टोल फ़ीस देनी होगी और वह जीपीएस (ग्लोबल पॉज़िशनिंग सिस्टम) आधारित प्रणाली से वसूली जाएगी.

केंद्र सरकार ने जीपीएस आधारित टोल वसूलने की प्रक्रिया को अंतिम रूप दे दिया है. इसके साथ ही गाड़ियों के रुकने या जाम में फंसने से तेल भी अधिक ख़र्च होता है जिससे तेल की बचत होगी.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मार्च 2021 तक टोल वसूलने से सरकार को 34,000 करोड़ रुपये की कमाई हुई है और जीपीएस के ज़रिए टोल वसूलने से अगले पांच सालों में यह कमाई 1.34 लाख करोड़ हो जाएगी.

स्टोरी: टीम बीबीसी

आवाज़: मानसी दाश

वीडियो एडिटिंग: रुबाइयत बिस्वास

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)