पाकिस्तान की फ़ौज क्या भारत के साथ रिश्ते सुधारना चाहती है?

पाकिस्तान की फ़ौज क्या भारत के साथ रिश्ते सुधारना चाहती है?

पाकिस्तान की फ़ौज ने भारत के साथ अपने पारंपरिक संबंधों में संभावित बड़े बदलाव का संकेत दिया है जिसकी झलक आर्मी चीफ़ के बयान में नज़र आई है.

पाकिस्तान के आर्मी चीफ़ जनरल क़मर जावेद बाजवा ने गुरुवार को कहा, "ये समझना महत्वपूर्ण है कि शांतिपूर्ण तरीकों से कश्मीर विवाद के समाधान के बिना मैत्रीपूर्ण संबंध हमेशा ख़तरे में रहेंगे. जो कि राजनीति से प्रेरित आक्रामकता की वजह से पटरी से उतर सकते हैं. बहरहाल हमारा मानना है कि यह समय अतीत को भुलाकर आगे बढ़ने का है."

उन्होंने कहा कि, "शांति प्रक्रिया की बहाली या शांतिपूर्ण संवाद के लिए हमारे पड़ोसी को उसके लिए माहौल बनाना होगा, ख़ासतौर पर कश्मीर में वैसा माहौल होना चाहिए."

पाकिस्तान के आर्मी चीफ़ जनरल क़मर जावेद बाजवा ने कहा कि भारत-पाकिस्तान के स्थिर संबंध, पूर्व और पश्चिम एशिया के बीच संपर्क सुनिश्चित करके दक्षिण और मध्य एशिया में संभावनाओं के द्वार खोलने की कुंजी हैं. पाकिस्तान के कराची शहर से वरिष्ठ पत्रकार वुसअतुल्लाह ख़ान की टिप्पणी.

वीडियो- शुभम कौल

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)