भारतीय चावल के सामने पाकिस्तान के क्यों छूटे पसीने

भारतीय चावल के सामने पाकिस्तान के क्यों छूटे पसीने

भारतीय चावल तेज़ी से अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में पाकिस्तानी चावल की जगह ले रहा है. पाकिस्तान के चावल निर्यातक भारत से निर्यात किये गए सस्ते चावल को कथित तौर पर 'डंपिंग' कहते हैं.

डंपिंग का मतलब किसी भी उत्पाद को लागत से कम क़ीमत पर बेचना है, ताकि बाज़ार को अपने कंट्रोल में किया जा सके.

कथित तौर पर भारत का उद्देश्य अपने चावल को अधिक से अधिक अंतरराष्ट्रीय बाज़ारों में बेचना और अंतरराष्ट्रीय व्यापार सेक्टर में दूसरे प्रतिद्वंदी देशों से आगे निकलना है. पाकिस्तान और भारत, चावल निर्यात के मामले में एक दूसरे के प्रतिद्वंद्वी हैं.

स्टोरी: तनवीर मलिक

आवाज़: शुभम किशोर

वीडियो एडिटिंग: बुशरा शेख़

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)