तुर्की और राष्ट्रपति अर्दोआन पर क्या बोला तालिबान?

तुर्की और राष्ट्रपति अर्दोआन पर क्या बोला तालिबान?

तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान और तुर्की का ऐतिहासिक संबंध रहा है और मुल्ला हसन अखुंद की नई सरकार तुर्की के साथ सहयोग बढ़ाना चाहती है.

शाहीन ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान तुर्की से कई क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाना चाहता है.

उन्होंने कहा कि तुर्की के इंजीनियर और अन्य लोग अफ़ग़ानिस्तान में काम कर रहे हैं और उनका अहम योगदान है. शाहीन ने टर्किश न्यूज़ वेबसाइट Haberler.com को दिए इंटरव्यू में कहा, ''हम भविष्य में तुर्की से रिश्ते मज़बूत करना चाहते हैं. शिक्षा, कंस्ट्रक्शन और आर्थिक क्षेत्र में हम तुर्की के साथ सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.''

तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन की विदेश नीति पर पूछे गए सवाल के जवाब में शाहीन ने कहा कि हर मुल्क अपने हित में विदेश नीति तैयार करता है और हम उसका सम्मान करते हैं.

शाहीन ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान की नई सरकार तुर्की से पारस्परिक हितों के आधार पर संबंध आगे बढ़ाना चाहती है. शाहीन ने कहा, ''तुर्की जैसा संबंध चाहता है, हम उसी हिसाब से अपना रुख़ तय करेंगे. अगर तुर्की मस्लिम भाई के तरह सामने आएगा तो हम भी उसी भाव से सामने आएंगे और इस रुख़ का स्वागत है. हम तुर्की को 'मुस्लिम भाई' के तौर पर देखते हैं.''

रिपोर्ट: टीम बीबीसी

आवाज़: विशाल शुक्ला

वीडियो एडिटिंग: देबलिन रॉय

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)