अफ़ग़ानिस्तान की पहली और अकेली घूमर महिला कलाकार की कहानी

अफ़ग़ानिस्तान की पहली और अकेली घूमर महिला कलाकार की कहानी

फ़ाहिमा मिर्ज़ई अफ़ग़ानिस्तान की पहली और अकेली घूमर महिला कलाकार हैं.

तालिबान और कई धार्मिक कट्टरपंथियों का मानना है कि घूमर करने वाले विधर्मी हैं.

फ़ाहिमा ने अपनी अधिकांश ज़िंदगी लोकतांत्रिक अफ़ग़ानिस्तान में बितायी है. लेकिन अब वो अपने देश से पलायन कर चुकी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)