प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बाल सांसदों से बातचीत

Image caption पाँच बाल सांसद बीबीसी के स्टूडियो आए थे

आपने लोक सभा और राज्य सभा के सांसदों के बारे में तो बहुत सुना है लेकिन आइये आपकी मुलाकात करवाते हैं कुछ बहुत ही विशिष्ट सांसदों से. जी हाँ हम बात कर रहे हैं उन बाल सांसदों की जिन्हें देश के सैकड़ों बच्चों ने चुना है.

इस बाल संसद के कई सदस्य बिहार के बाड़ग्रस्त इलाकों से चुने गए हैं तो कुछ झारखंड की माइका की भट्टियों वाले इलाकों से. कुछ राजस्थान के उन इलाकों से है जहाँ लड़का- लड़की में भेद भाव होता है और बाल विवाह भी होता है.

इसी तरह से देश के 65 गाँवों मे 120 बाल सांसद चुने गये और गैर सरकारी संथान बचपन बचाओ आंदोलन ने इस पूरी प्रक्रिया को अंजाम दिया. लेकिन बात बस इतनी भर नही हैं. इन बाल सांसदों मे से कई बच्चे खुद बाल मज़दूरी का शिकार रह चुके हैं.

इन्ही मे से पाँच बाल सांसद बीबीसी के दिल्ली स्टूडियो आए और बीबीसी संवाददाता पल्लवी जैन ने उनसे एक परिचर्चा की. तो सुनिये इन बाल सांसदों की कहानी उन्ही की ज़बानी.