प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ख़ास हस्तियों की निजी ज़िंदगी में दखल...?

बीबीसी इंडिया बोल में इस बार बहस हुई एक अहम मुद्दे पर कि क्या सार्वजनिक रूप से ख़ास माने जाने वाले और प्रशासनिक, राजनीतिक जीवन के अलावा अपने अपने क्षेत्रों में एक बड़ा मुक़ाम हासिल करने वालों की निजी ज़िंदगी में झांकने की प्रवृत्ति को जायज़ ठहराया जा सकता है.

बहस यह उठी कि उनकी निजता का सवाल कहाँ तक जायज़ है. साथ साथ यह भी कि क्या निजता की दुहाई देकर ये बच सकते हैं. समाज और लोगों के प्रति ज़िम्मेदारी के साथ साथ क्या इनकी कोई नैतिक ज़िम्मेदारी भी नहीं बनती है.

ऐसे ही मुद्दे पर इस कड़ी में हुई एक गरमागरम बहस. सुनिए, कार्यक्रम का ऑडियो.