प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बिहार के आबकारी मंत्री से बातचीत

बिहार में विकास संबधी सरकारी दावे और इस बाबत उछाले गये आंकड़ों पर भले ही विवाद हो, लेकिन राज्य में दारू के अवैध धंधों में आई उछाल पर ऐसा कोई विवाद नहीं है.

देसी-विदेशी और असली-नक़ली शराब की दुकानें न सिर्फ वहाँ कुकुरमुत्तों की तरह छा गयी हैं बल्कि ज़हरीली शराब पी-पी कर लोग मर भी रहे हैं.

तो ऐसे निरंकुश और जानलेवा दारू-कारोबार के प्रति राज्य सरकार की इतनी दरियादिली क्यों है, ये जानने के लिए बीबीसी के बिहार संवाददाता मणिकांत ठाकुर ने राज्य के उत्पाद और मद्य -निषेध विभाग के मंत्री जमशेद अशरफ़ से संपर्क साधा.