प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

भारत और ब्रिटेन के चुनावों में अंतर

संसदीय परंपरा का जनक होने के नाते ब्रिटेन की चुनाव प्रक्रिया में दुनिया के कम-से-कम उन लगभग सवा सौ देशों की दिलचस्पी रहती है जो कि लोकतंत्र हैं.

दूसरी ओर दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है. ऐसे में ब्रिटेन और भारत की चुनाव प्रक्रिया की परस्पर तुलना को अस्वाभाविक नहीं कहा जा सकता है. कई अंतर तो पहली ही नज़र में दिख जाते हैं. जैसे- भारत में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से मतदान और मतगणना के काम होते हैं, तो ब्रिटेन में वोट मतपत्रों के ज़रिए डाले जाते हैं और मतगणना भी हाथों से ही की जाती है.

दोनों देशों की चुनाव पद्धतियों की बुनियादी विशेषताओं पर चर्चा के लिए भारत में हमने संपर्क किया पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. जी वी जी कृष्णमूर्ति से, और ब्रिटेन में भंग हाउस ऑफ़ कॉमंस में सांसद रहे खालिद महमूद से जो इस चुनाव में एक बार फिर लेबर पार्टी के उम्मीदवार हैं.