बीबीसी इंडिया बोल... लाइव टेक्स्ट

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

IST2028-राजस्थान की एक महिला श्रोता इंदु ने जातिगत जनगणना का विरोध किया

IST2026-राजस्थान के अनिमेष ने कहा कि किस गांव में किस जाति के लोग रहते हैं ये सबको पता है तो फिर विरोध कैसा

IST2024-लेकिन राजस्थान की अंजु ने सबका तर्क ख़ारिज कर दिया

IST2022-तमिलनाडू के एक श्रोता ने जाति के आधार पर जनगणना का विरोध किया उनका कहना था कि इससे सिर्फ राजनेताओं को लाभ होगा

IST2020-उत्तर प्रदेश के एक श्रोता ने कहा कि अगड़ी जाति के लोग अपने फ़ायदे के लिए जातिगत जनगणना का विरोध कर रहे हैं

IST2019-राजस्थान के एक श्रोता ने कहा कि समाज पहले से बटा हुआ है इसलिए ये दलील कि इससे समाज बटेगा बेमानी है

IST2016-बलिया के इरफ़ान अंसारी ने जातिगत जनगणना का साथ दिया, उन्होंने कहा कि शादी ब्याह में अगर जाति अहम है तो फिर इसमें क्या दिक़्कत है

IST2013-गोरखपुर के एक श्रोता ने समाजवाद का हवाला दिया और कहा कि जातिगत जनगणना नहीं होनी चाहिए

IST2012- बेतिया बिहार के भी एक श्रोता ने इसका विरोध किया

IST2011-मधुबनी बिहार के एक श्रोता ने जातिगत जनगणना का विरोध किया

IST2009-अंजु ने कहा कि सरकार के पास कोई आंकड़ा नहीं है इसलिए भी ये ज़रूरी है

IST2007-इंगलैंड के फ़िरोज़ ने जाति के आधार पर जनगणना का विरोध किया

IST2005-राजस्थान की अंजु ने इसका समर्थन किया कि जाति के आधार पर जनगणना होनी चाहिए

IST2002-राजस्थान के एक श्रोता ने इसकी आलोचना की

IST2002-सबसे पहले श्रोता थे बिहार के अंबिका यादव ने जिन्होंने जाति जनगणना का समर्थन किया

IST2001-कार्यक्रम की शुरूआत की राजेश जोशी ने

IST1953-बीबीसी इंडिया बोल में आज का विषय है कि - क्या जनगणना में जाति के बारे में जानकारी ली जानी चाहिए?

IST1951-कुछ ही देर आप बीबीसी हिंदी के कार्यक्रम बीबीसी इंडिया बोल में हिस्सा ले सकते हैं.

IST1935-बीबीसी इंडिया बोल में आप 9999688858 पर एसएमएस भेजकर भी शामिल हो सकते हैं.

IST1920- कार्यक्रम में शामिल होने के लिए हमें मुफ़्त फ़ोन करे - 1800 11 7000 पर या फिर 1800 102 7001 पर.

IST1916- इस बार चर्चा का विषय है कि - क्या जनगणना में जाति के बारे में जानकारी ली जानी चाहिए?

IST1915-- बीबीसी हिंदी के रेडियो कार्यक्रम बीबीसी इंडिया बोल में आपका स्वागत है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.