कॉमनवेल्थ गेम्स : दसवाँ दिन

मीडिया प्लेयर

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

किसी और ऑडियो/वीडियो प्लेयर में चलाएँ

राष्ट्रमंडल खेलों के दसवें दिन भारत को चार स्वर्ण पदक प्राप्त हुए.

मुक्केबाज़ी के 64 किलोग्राम लाइट वेल्टरवेट वर्ग के फ़ाइनल मुक़ाबले में मनोज कुमार ने इंग्लैंड के सांडर्स ब्रैडली को हरा कर स्वर्ण पदक जीता.

वहीं भारत के सुरंजय मयान्गम को 52 किलोग्राम फ़्लाइवेट वर्ग को स्वर्ण पदक मिला. सुरंजय को मुक्के बरसाने की ज़रूरत भी नहीं पड़ी क्योंकि उनके प्रतिद्वंद्वी कीनिया के बेन्सन न्यानगिरु मुक़ाबले के लिए आए ही नहीं.

दसवें दिन भारत को बॉक्सिंग का तीसरा गोल्ड मेडल दिलाया परमजीत समोटा ने सुपर हेवीवेट वर्ग में. उन्होंने फ़ाइनल में त्रिनिदाद एंड टोबैगो के तारिक़ अब्दुल हक़ को हराया.

बुधवार को बॉक्सिंग के अलग-अलग वर्गों में भारत के जयभगवान, अमनदीप सिंह, विजेन्दर सिंह और दिलबाग सिंह को कांस्य पदक मिले.

श्रीलंका को भी गोल्ड

दसवें दिन बॉक्सिंग का मुक़ाबला श्रीलंका के लिए भी ख़ास रहा. श्रीलंका के मंजू वनियारच्ची ने 56 किलोग्राम बैंटमवेट वर्ग में वेल्स के शॉन मैकगोल्डरिक को हरा कर स्वर्ण पदक जीता. कॉमनवेल्थ गेम्स में ये श्रीलंका का पहला गोल्ड मेडल है.

टेबल टेनिस के पुरुष युगल मुक़ाबले का स्वर्ण पदक भारत की ही झोली में गया. फ़ाइनल में अचंता शरत कमल और शुभजीत साहा की जोड़ी ने सिंगापुर के निंग गाओ और ज़ि यंग की जोड़ी को हराया.

निशानेबाज़ी में भारत के समरेश जंग ने पुरुषों के 25 मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल वर्ग में कांस्य पदक, जबकि महिलाओं के 10 मीटर एयर पिस्टल एकल वर्ग में हीना सिद्धू ने रजत पदक प्राप्त किया.

ऑस्ट्रेलिया की महिला हॉकी टीम ने एक कड़े मुक़ाबले में पड़ोसी न्यूज़ीलैंड को हरा कर गोल्ड मेडल जीता. जबकि ऑस्ट्रेलिया की ही नाज़मी जॉन्स्टन ने व्यक्तिगत ऑलराउंड जिम्नास्टिक्स स्पर्धा में अपने क़रतबों से न सिर्फ़ दर्शकों का मन मोहा, बल्कि इस वर्ग का गोल्ड मेडल भी जीता.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.