क्रिकेट विश्व कप- तस्वीरों में इतिहास

  • क्लाइव लॉयड-रिकी पॉन्टिंग
    1975 में हुए पहले विश्व कप से लेकर अब तक इसमें काफ़ी बदलाव हुए हैं. पहले सिर्फ़ दिन में मैच खेले जाते थे और खिलाड़ी सफ़ेद कपड़े पहनकर ही खेलते थे.
  • सुनील गावस्कर
    1975 में इंग्लैंड में हुए पहले विश्व कप में भारत का पहला मैच इंग्लैंड के ख़िलाफ़ था जिसमें सुनील गावस्कर ने पूरे 60 ओवर तक बल्लेबाज़ी करके सिर्फ़ 36 रन बनाए थे.
  • गैरी गिलमर- क्लाइव लॉयड
    1975- सेमीफ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया के गैरी गिलमर ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ सिर्फ़ 14 रन देकर 6 विकेट लिए. फ़ाइनल में कप्तान क्लाइव लॉयड के शानदार 102 रन के सहारे वेस्ट इंडीज़ ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहला विश्व कप जीता.
  • एलन बॉर्डर- ज़हीर अब्बास
    1979 में हुए दूसरे विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के कई अनुभवी खिलाड़ी बग़ावत करके कैरी पैकर सीरीज़ खेलने चले गए. तब युवा खिलाड़ियों को मौका दिया गया. ज़हीर अब्बास की अगुवाई में पाकिस्तान की टीम सेमीफ़ाइनल तक पहुंची.
  • विव रिचर्ड्स-कोलिन किंग
    1979- इंग्लैंड के लॉर्ड्स में हुए फ़ाइनल में वेस्ट इंडीज़ के विव रिचर्ड्स और कोलिन किंग ने इंग्लैंड के गेंदबाज़ों की जमकर धुनाई की. वेस्ट इंडीज़ की पेस बैटरी के आगे इंग्लैंड की बल्लेबाज़ी ढह गई और वेस्ट इंडीज़ ने लगातार दूसरा विश्व कप जीत लिया.
  • जिंबाब्वे के डंकन फ़्लेचर
    1983- डंकन फ़्लेचर की अगुवाई में उतरी जिंबाब्वे एकमात्र ऐसी टीम थी जो टेस्ट मैच नहीं खेलती थी. जिंबॉब्वे ने अपने ग्रुप मैच में ऑस्ट्रेलिया जैसी मज़बूत टीम को हराकर सनसनी फ़ैला दी थी.
  • कपिल देव-मैल्कम मार्शल-जैफ़ डुजन
    1983- खिताब की प्रबल दावेदार वेस्ट इंडीज़ को कपिल देव की कप्तानी में भारत ने हरा दिया और अपना पहला विश्व कप जीतकर इतिहास रच दिया.
  • अब्लुद क़ादिर-मनिंदर सिंह-मनोज प्रभाकर
    1987- भारत और पाकिस्तान ने मिलकर इसकी मेज़बानी की. ये सफ़ेद कपड़ों में खेला जाना वाला आख़िरी विश्व कप रहा.
  • एलन बॉर्डर
    मेज़बान भारत और पाकिस्तान की टीमें सेमीफ़ाइनल तक ही पहुंच पाईं. एलन बॉर्डर की शानदार कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने एक बेहद रोमांचक मैच में इंग्लैंड को सात रन से हराकर ऑस्ट्रेलिया को पहला विश्व कप खिताब दिलाया.
  • 1992 क्रिकेट विश्व कप
    1992- ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में हुआ पांचवा विश्व कप कई मामलों में अनोखा रहा. पहली बार सभी टीमें रंगीन पोशाक पहनकर खेलने उतरीं और सफ़ेद गेंद का इस्तेमाल हुआ. दक्षिण अफ़्रीकी टीम पहली बार विश्व कप खेलने उतरी.
  • मार्क ग्रेटबैच-दीपक पटेल
    न्यूज़ीलैंड के मार्क ग्रेटबैच ने शुरुआती ओवरों में ही तूफ़ानी बैटिंग का नया चलन शुरु किया. जबकि कप्तान मार्टिन क्रोव ने स्पिनर दीपक पटेल को नई गेंद थमाकर सफल प्रयोग किया.
  • 1992 क्रिकेट विश्व कप
    वर्षा से बाधित मैच का फ़ैसला करने के लिए बनाए गए विवादास्पद नियम की वजह से बेहतरीन खेल रही दक्षिण अफ़्रीका की टीम को सेमीफ़ाइनल में इंग्लैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा.
  • पाकिस्तान
    लेकिन तीसरी बार फ़ाइनल में पहुंची इंग्लैंड की टीम को फिर हार झेलनी पड़ी. वसीम अकरम की ख़तरनाक गेंदबाज़ी की बदौलत पाकिस्तान ने इमरान की कप्तानी में पहला विश्व कप जीता.
  • 1996 क्रिकेट विश्व कप
    1996 में क्रिकेट विश्व कप फिर से भारतीय उपमहाद्वीप लौटा. भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका ने मिलकर इसकी मेज़बानी की.
  • पॉल एडम्स
    दक्षिण अफ़्रीका के बाएं हाथ के 'चाइनामैन' स्पिनर पॉल एडम्स अपने अजीब ऐक्शन की वजह से ख़ूब चर्चा में रहे.
  • 1996 क्रिकेट विश्व कप
    कोलकाता में हुए सेमीफ़ाइनल में जब भारत की टीम हार की तरफ़ बढ़ रही थी तो भारतीय प्रशंसक बेक़ाबू हो गए. तब मैच रैफ़री क्लाइव लॉयड ने श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया. फ़ाइनल में श्रीलंका ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर अपना पहला विश्व कप खिताब जीता.
  • 1999 क्रिकेट विश्व कप
    1999 में विश्व कप एक बार फिर इंग्लैंड में हुआ. ख़राब मौसम से बाधित मैचों का फ़ैसला करने के लिए पहली बार विश्व कप में डकवर्थ-लुईस नियम लाया गया. इसमें टीमें सुपर सिक्स नियम के आधार पर अगले दौर में पहुंची.
  • शेन वार्न, इंग्लैंड की टीम
    टूर्नामेंट के दौरान ही शेन वॉर्न को दूसरी संतान की प्राप्ति हुई, लेकिन वॉर्न उस दौरान अपने परिवार के साथ वक़्त नहीं बिता सके. मेज़बान इंग्लैंड पहले दौर से ही आगे नहीं बढ़ सकी.
  • पाकिस्तान-न्यूज़ीलैंड
    सेमीफ़ाइनल में शोएब अख़्तर की शानदार गेंदबाज़ी (55/3) और सईद अनवर के शानदार शतक की बदौलत पाकिस्तान ने न्यूज़ीलैंड को नौ विकेट से हरा दिया.
  • 1999 सेमीफ़ाइनल
    1999 में हुए दूसरा सेमीफ़ाइनल शायद विश्व कप के इतिहास का सबसे यादगार मैच रहा. ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ़्रीका के बीच हुआ ये मैच टाई हो गया, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम को पिछला मैच जीतने के आधार पर फ़ाइनल में जगह मिली.
  • शेन वॉर्न-स्टीव वॉ
    फ़ाइनल में शेन वॉर्न की बेहतरीन गेंदबाज़ी (33/4) की वजह से ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को सिर्फ़ 132 रन पर ऑल आउट कर दिया. ऑस्ट्रेलिया ने बड़ी आसानी से सिर्फ़ दो विकेट खोकर लक्ष्य पूरा कर लिया.
  • शेन वॉर्न-नासिर हुसैन
    2003 में पहली बार क्रिकेट विश्व कप अफ़्रीकी महाद्वीप में हुआ. टूर्नामेंट की शुरुआत में ही शेन वॉर्न प्रतिबंधित दवाएं लेने के दोषी पाए गए. वहीं इंग्लैंड ने सुरक्षा कारणों से जिंबाब्वे में खेलने से इनकार कर दिया.जिसकी वजह से उन्हें उस मैच में हारा घोषित कर दिया गया.
  • दक्षिण अफ़्रीका
    डकवर्थ लुईस नियम को समझने में हुई भूल की वजह से दक्षिण अफ़्रीका की टीम अपने आखिरी लीग मैच को टाई करा बैठी. जबकि इस मैच में जीत उन्हें अगले दौर में पहुंचा सकती थी.
  • जॉन डेविसन
    वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ कनाडा के जॉन डेविसन ने सिर्फ़ 67 गेंदों में शतक जमा दिया. ये विश्व कप के इतिहास का अब तक का सबसे तेज़ शतक रहा.
  • कीनिया-ऑस्ट्रेलिया
    बेहतरीन खेल दिखाते हुए कीनिया की टीम सेमीफ़ाइनल तक जा पहुंची. जोहान्सबर्ग में हुए एकतरफ़ा फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 125 रन से हराकर अपनी तीसरा विश्व कप खिताब जीता.
  • 2007 क्रिकेट विश्व कप
    2007 में हुआ क्रिकेट विश्व कप वेस्ट इंडीज़ में हुआ. हालांकि कैरेबियाई रंग में रंगे इस विश्व कप का स्थानीय लोगों ने जमकर लुत्फ़ उठाया, लेकिन आयोजकों पर अव्यवस्थाओं के आरोप भी लगे.
  • भारत-पाकिस्तान
    भारत और पाकिस्तान की टीमें क्रमश: बांग्लादेश और आयरलैंड जैसी छोटी टीमों से हारकर पहले दौर में ही टूर्नामेंट से बाहर हो गईं. लेकिन पूरा क्रिकेटिंग जगत तब सन्न रह गया जब पाकिस्तान के कोच बॉब वूल्मर अपने होटल के कमरे में मृत पाए गए.
  • जैक कैलिस-लसित मलिंगा
    दक्षिण अफ़्रीका के हर्शेल गिब्स नीदरलैंड के ख़िलाफ़ मैच में छह गेंदों पर छह छक्के मारने वाले वनडे के इकलौते खिलाड़ी बने. वहीं श्रीलंका के लसित मलिंगा ने दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ मैच में चार गेंदों पर चार विकेट लिए.
  • ऑस्ट्रेलिया-श्रीलंका
    2007 में हुआ फ़ाइनल मैच काफ़ी विवादित रहा. श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया की टीमें आमने-सामने थीं. बारिश की वजह से मैच रुका तो अंपायर नियम समझने में भूल कर बैठे. आखिरकार ऑस्ट्रेलिया ने ये मैच जीतकर लगातार तीसरा और कुल चौथा विश्व कप जीता.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.