झज्जर में बच्चियां सबसे कम

मीडिया प्लेयर

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

वैकल्पिक मीडिया प्लेयर में सुनें/देखें

साल 2011 की जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक़ भारत में हर 1000 लड़कों के मुक़ाबले 914 लड़कियां हैं, जबकि हरियाणा के झज्जर इलाक़े में ये अनुपात सबसे कम 1000:774 ही है. क्यों कम है झज्जर में लड़कियां? क्या वहां रहने वालों को बच्चियां पसंद नहीं? इस लिंगानुपात को सही करने के लिए सरकार ने क्या क़दम उठाए हैं? ये कारगर क्यों नहीं हुए? इन सभी सवालों का जवाब ढूंढने की कोशिश की बीबीसी संवाददाता दिव्या आर्य ने हरियाणा के झज्जर ज़िले में. वो पहुंची ‘कोहन्द्रा वाली’ गांव जहां उन्होंने देखा कि महिलाएं घर संभालती हैं और पुरुष ज़्यादातर खेती के ज़रिए जीविका चलाते हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.