प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'राखी बांधते ही वो रो पड़ा'

Image caption दलबीर कौर ने कहा कि उनकी बस ये ख़्वाहिश है कि उनके जीते जी सरबजीत भारत लौट आएं.

लाहौर हाई कोर्ट से मिली इजाज़त के बाद पाकिस्तान के लाहौर जेल में बंद सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर 16 जून को उनसे मिलने पहुंचीं.

सरबजीत 21 साल से जासूसी और 1990 में लाहौर में बम धमाका करने के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद है.

इन 21 सालों में ये दूसरी बार जब उनके परिवार वालों को उनसे मिलने दिया गया है. उन्हें फांसी की सज़ा सुनाई जा चुकी है और उन्होंने माफ़ीनामे के लिए राष्ट्रपति से अपील की है.

मुलाक़ात के बाद बीबीसी संवाददाता हफ़ीज़ चाचड़ ने दलबीर कौर से फ़ोन पर बात की. सुनिए उस बातचीत के अंश