प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'हम ही हम थे ज़माने में...'

  • 11 दिसंबर 2011

100 साल पहले जब ब्रितानी शासकों ने नई दिल्ली का निर्माण कर, शाहजहानाबाद को 'पुरानी दिल्ली' की संज्ञा दी, तब चंगेज़ी ख़ान की उम्र महज़ दो साल थी.

उनकी परवरिश ब्रितानी राज को देखते हुए हुई और वे पिछले 100 सालों में दिल्ली में हुए बदलाव के चश्मदीद रहे हैं.

चंगेज़ी ख़ान कहते हैं कि इन सौ सालों में दिल्ली में इस कद्र बदलाव आया है कि अब वे जब पुरानी दिल्ली से बाहर कदम रखते हैं तो अपने ही शहर में गुम हो जाते हैं.

'दिल्ली: कल आज और कल' की इस कड़ी में आइए जानते हैं उनकी ज़बानी दिल्ली के सौ सालों का सफ़र और उससे जुड़ी कुछ रोचक कहानियां, जिन्हें चंगेज़ी साहब अपने ज़हन में समेटे हैं.