प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

दिल्ली के रंग उसके लज़ीज़ खानों के संग

दिल्ली शहर के सौ सालों का ज़िक्र हो और इस शहर के खाने और यहां के ज़ायकों पर बात न हो ये मुमकिन नहीं. कई सौ साल का इतिहास लिए ये शहर आज हमारे लिए भारत का प्रारुप बन गया है, लेकिन दिल्ली की अपनी संस्कृति क्या है, क्या है यहां के खाने की वो ख़ासियत जो हमें मुंबई या कोलकाता या फिर किसी और शहर में नहीं मिलेगी.

बीबीसी संवाददाता पारुल अग्रवाल के ज़रिए सुनिए दिल्ली के बहुसांस्कृतिक चेहरे की कहानी.