प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

माई बिज़नस: फ़र्श से अर्श तक का सफ़र

ये कहानी दुनियाभर के उन हज़ारों उद्दमियों में से एक है जिन्होंने आसान नहीं बल्कि मुश्किल रास्तों को चुना और कुछ अलग करने की हिम्मत दिखाई.

सरथ बाबू का जन्म चेन्नई के एक झुग्गी बस्ती इलाके में हुआ और आईआईएम से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने भारत के दक्षिण हिस्से में फूडकिंग केटरिंग के नाम से रेस्त्रां की एक चेन शुरु की.

उनके व्यापार का मकसद ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को नौकरियां देना और कम से कम कीमत में बेहतरीन खाना उपलब्ध कराना है.

एक लाख से शुरु किया गया ये व्यापार आज सात करोड़ की सालाना आय तक पहुंच गया है. सुनते सरत की कहानी उनकी अपनी ज़बानी.