प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

सफ़ेद बादलों का क़हर

  • 26 जनवरी 2012

अरबों डॉलर कमाने वाले कपास उद्योग के सबसे निचले पायदान पर बाल मज़दूरी हो रही है. भारत से कपड़ा ब्रिटेन की चमचमाती दुकानों तक भी पहुंचता है लेकिन इस व्यवसाय में किसी को बच्चों की परवाह नहीं है. हंफ़्री हॉक्सली की रिपोर्ट.