प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

सबसे अमीरों की दौलत से फ़ायदा किसे?

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार मिट रोमनी ने अपनी करोड़ों डॉलर की आय पर 13.9% का टैक्स देकर अति धनवान लोगों से लिए जानेवाले टैक्स के स्तर को लेकर बहस छेड़ दी है.

उधर, वॉल स्ट्रीट पर धरना देनेवाले प्रदर्शनकारियों का दावा है कि वे 99 प्रतिशत अमरीका वासियों का प्रतिनिधित्व कर उस एक प्रतिशत आबादी को चुनौती दे रहे हैं जिन्होंने देश की अधिकांश दौलत पर कब्ज़ा कर रखा है.

मगर कितने सही हैं ये आँकड़े?

विकसित देश पिछले 30 वर्ष में और अमीर हुए हैं, मगर उन देशों में सभी लोगों की जेबें उसी अनुपात में भारी नहीं हुई हैं.

संस्था ओईसीडी के अनुसार अधिकतर विकसित देशों में आय को लेकर असमानता बढ़ती जा रही है.

अमरीका में मात्र 400 अमीर लोगों की आय कुल आबादी के नीचे के 50 प्रतिशत हिस्से के लोगों की कमाई के बराबर है.

दुनिया के सौ सबसे अमीर लोगों में लगभग एक तिहाई लोग अमरीका में रहते हैं.

कौन हैं ये अरबपति? कहाँ से आती है उनके पास ये दौलत? और क्या अति धनवान लोग अति करदाता भी हैं?