प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'विकास के नाम पर जनता को गुमराह'

आर्थिक विश्लेषक परंजोय गुहा ठाकुरता का कहना है कि सरकार जिस आर्थिक प्रगति की बात कर रही है वो बेमानी है क्योंकि अभी तक शासन का ध्यान महज सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी बढ़ाने में रहा है न कि संपूर्ण विकास में - जिसमें लोगों को रोजगार मुहैया हो सके, शिक्षा और जीवन गुजारने के लिए बेहतर सुविधाएं मुहैया हों. वो कहते हैं कि जनता को बजट से बहुत उम्मीदें नहीं रखनी चाहिएं.