प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

क्यों है राष्ट्रपति पद पर खींचतान?

भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल का पांच साल का कार्यकाल जुलाई में खत्म हो रहा है. नए राष्ट्रपति के चुनाव के लिए विभिन्न दलों ने अपने-अपने उम्मीदवारों के पक्ष में समर्थन जुटाना शुरू कर दिया है.

यूपीए की तरफ से उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के नाम पर चर्चा हो रही है तो एनडीए पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को दोबारा राष्ट्रपति बनाना चाहता है.वामपंथी पार्टियां हामिद अंसारी के पक्ष में हैं लेकिन वित्र मंत्री प्रणब मुखर्जी के नाम पर भी पार्टी में चर्चा चल रही है.

एनडीए के घटक दल जेडीयू का कहना है कि बीजेपी के उम्मीदवार पर वो आंख मूंद कर अपनी मुहर नहीं लगाएगा. कुल मिलाकर राष्ट्रपति का चुनाव काफी दिलचस्प होता नजर आ रहा है.

स्पष्ट बहुमत किसी के पास नहीं है और ई श्रीधरन, अमर्त्य सेन जैसे कुछ गैर राजनीतिक उम्मीदवारों के नाम पर भी चर्चा का बाजार गर्म है. लेकिन इस राजनीतिक खींचतान का नतीजा क्या निकलेगा, इसका विश्लेषण कर रहे हैं 'द टेलिग्राफ' के पत्रकार संकर्षण ठाकुर.