प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

क्या भारत को माफ कर पाएँगी सू ची?

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन अपनी बर्मा यात्रा के दौरान मंगलवार को बर्मा की लोकतंत्र समर्थक नेता आंग सांग सू ची से मुलाकात करेंगें.

कई सालों तक नज़रबंद रहीं नेता आंग सांन सू ची को भारत से उम्मीद थी कि वो उनकी लोकतंत्र की लड़ाई में उनका साथ देगा, लेकिन बजाय इसके भारत ने बर्मा के सैन्य शासकों का अपने देश में स्वागत किया.

अब जब आंग सान सू ची बर्मा की राजनीति में एक अहम शख्सियत के तौर पर उभर रही हैं, तो प्रधानमंत्री और उनकी बैठक का माहौल कैसा रहेगा?

सुनिए बर्मा में भारत के राजदूत रह चुके राजीव भाटिया का आकलन.

उनसे बात की बीबीसी संवाददाता शालू यादव ने.