प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'अनिश्चितता ने अर्थव्यवस्था को बेहाल किया '

क्रेडिट रेटिंग स्टैंडर्ड एंड पूअर्स यानी एसएंडपी की रिपोर्ट को भारत ने यूं तो खारिज कर दिया है लेकिन इसके इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि इसके चलते सरकार पर दबाव बढ़ा है.

अप्रैल महीने के लिए जारी औद्योगिक विकास के आंकड़े भी जाहिर करते हैं कि सरकार के सामने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कड़ी चुनौती मौजूद है.

जाने-माने अर्थशास्त्री प्रोफेसर अरुण कुमार इस रिपोर्ट के आर्थिक पहलुओं से सहमत हैं तो इसमें की गई राजनीतिक आलोचना को खारिज करते हैं.