गुज़रे ज़माने की ताज़ा तस्वीरें

 बुधवार, 19 सितंबर, 2012 को 12:48 IST तक के समाचार
  • 1890 में ली गई इस तस्वीर में दिखाई दे रहा है कि उस समय पोंडीचेरी में यातायात के साधन के रुप में इस गाड़ी का ही इस्तेमाल होता था.(साभार- अलकाजी संग्रह )
  • ये दुर्लभ फोटो हेनरी कार्टियर ब्रेसों ने महर्षि अरविंद के आश्रम के दौराम खींची थी. 1950 की इस इस फोटो में महर्षि अरविंद और माँ हैं.
  • 'माँ टेनिस खेलते हुए 'महर्षि अरविंद और उनका आश्रम' संग्रह से.
  • तारा जौहर द्वारा खींची गई इस तस्वीर का शीर्षक है 'ट्रूथ ट्रांसपेरेंट' या 'पारदर्शी सच'.
  • एक अनाम लैंडस्केप की ये तस्वीर को कैमरे में कैद किया है वेंकटेश शिरोडकर ने
  • वेंकटेश शिरोडकर की खींची एक और तस्वीर. 'नज़र का भ्रम'.
  • विद्यावृत्त, अरविंद आश्रम. एक अनाम पोट्रेट.
  • एक अत्नाम नक्शानवीस के द्वारा बनाया गया मालाबार और मदुरै के तट का एक नक्शा.
  • बिना किसी शीर्षक का ये फोटो भी वेंकटेश शिरोडकर ने खींचा है. इसमें अरविंद आश्रम में बैठा एक व्यक्ति दिखाई दे रहा है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.