प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ये कैसा सत्याग्रह?

रहने के लिए घर ना हो, अपनी कोई ज़मीन ना हो, बंधी हुई आमदनी ना हो, फिर भी सब कुछ छोड़कर, दिन में एक बार खाने के सहारे ये लोग मीलों लंबी पदयात्रा क्यों कर रहे हैं? ग्वालियर से दिल्ली की ओर बढ़ रहे इन लोगों से राजस्थान के धौलपुर में मिली बीबीसी संवाददाता दिव्या आर्य.