पानी पर तैरते स्कूल

 शनिवार, 17 नवंबर, 2012 को 09:35 IST तक के समाचार

पानी पर तैरते स्कूल

  • नाव में चलने वाले स्कूल
    कतर में शिक्षा के बारे में होने वाले विश्व ईनोवेशन बैठक में बांग्लादेश के तैरते स्कूलों को नामित किया गया है. बांग्लादेश में तैरते स्कूलों के परियोजना को सौर ऊर्जा से चलाया जाता है.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    इस परियोजना को मुनाफ़ा कमाने की नियत से शुरू नहीं किया गया है और इसे चलाने वाली संस्था सिधुलाई स्वनिर्वर संस्था इन्हें इसलिए चला रही ताकि बच्चों को मिल रही शिक्षा बाधित ना हो ख़ास तौर पर मानसून के मौसम में भी.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    बांग्लादेश में ज़मीन कम है और आबादी बहुत ज़्यादा. देश में निचले हिस्से हर साल नदियों के पानी की वजह बाद की चपेट में आ जाते हैं.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    मुहम्मद रिज़वान जो की इन स्कूलों को चलाने वाली संस्था के कार्यकारी निदेशक हैं उनका कहना है " मैंने अपनी आँखों से देखा है की नदीयों के किनारे रहने वाले समुदाय कितनी कठिनाईयों से गुज़रते हैं. सड़कें से लेकर सूचना का हर साधन लोगों की पहुँच से दूर हो जाता है. बच्चे तो बरसात में स्कूल जा ही नहीं सकते."
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    मुहम्मद रिज़वान का कहना है "बाढ़ प्रभावित इलाकों में ऐसे बच्चों की तादाद बहुत है जो स्कूल जाना छोड़ चुके हैं. मेरे लिए इसको सह पाना बहुत मुश्किल था.मैंने सोचा कि अगर बच्चे स्कूलों तक नहीं जा सकते तो स्कूलों को बच्चों तक जाना चाहिए, नावों से ".
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    नावें बच्चों को उनके गाँवों से इकठ्ठा करती हैं, हर नाव करीब 30 बच्चों की एक कक्षा के लिए जगह है. बीस नावें काम कर रही हैं जिनसे 1657 बच्चों को मदद मिल रही है.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    नावों पर चलने वाले स्कूलों में इन्टरनेट से जुड़े लैपटॉप कंप्यूटर हैं और पुस्तकालय भी हैं.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    यह स्कूल ना केवल बच्चों को प्राथमिक शिक्षा देता है बल्कि वयस्कों के लिए खेती, महिला अधिकार, मार्केटिंग, पोषण जैसे अन्य विषयों पर प्रशिक्षण भी देता है.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    सौर ऊर्जा से चलनी वाली लालटेंने भी छात्रों को दी जाती है ताकि वह रात को पढ़ सकें.
  • नाव में चलने वाले स्कूल
    इस वक़्त तो यह स्कूल अंतर्राष्ट्रीय दानदाताओं के दी हुए चंदे से चल रहे हैं लेकिन संस्था इस बात की कोशिश कर रही है की किस तरह से इस मामले में इन स्कूलों को आत्मनिर्भर बनाया जा सके

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.