जब भिड़ते हैं जंगली भालू!

 बुधवार, 12 दिसंबर, 2012 को 14:47 IST तक के समाचार

लड़ाकू भालू

  • जापान के फोटोग्राफर शोगो असाओ दक्षिण अलास्का के काटामई नेशनल पार्क में कुछ ऐसी ही तस्वीरों की तलाश में जाते हैं. (सभी तस्वीरें: एनएचपीए/फोटोशूट)
  • शोगो असाओ बताते हैं कि जैसे ही उन्होंने इन गुस्सैल भालुओं को देखा, समझ गए कि लड़ाई होने वाली है और तस्वीरें खींचने के लिए उन्होंने एक झरने के ओट में अपना कैमरा संभाला.
  • शोगो असाओ बताते हैं कि दोनों भालू एक-दूसरे को पटखनी देने की भरसक कोशिश कर रहे थे और वो ये सब बेहद करीब से देख रहे थे. अच्छी बात ये रही कि भालुओं को शोगो की भनक नहीं लगी.
  • दोनों भालुओं में से कोई भी पीछे हटने को राज़ी नहीं था. दोनों लड़ते-लड़ते झरने से दूर जंगल में और भीतर घुसते गए.
  • दोनों भालू नर थे, खड़े होने पर लंबाई करीब ढाई मीटर होगी.
  • शोगो असाओ बताते हैं कि ये पहला मौका है जब उन्होंने ऐसा दृश्य इतने करीब से देखा.
  • शोगो असाओ कहते हैं कि लम्बी लड़ाई के बाद भी दोनों भालुओं में से किसी के भी शरीर पर कोई चोट नजर नहीं आ रही थी.
  • काटामई नेशनल पार्क के अधिकारी कहते हैं कि शोगो असाओ ने जिन भालुओं की लड़ाई इतने करीब से देखी और तस्वीरों में कैद की, वो भूरे भालू थे. पार्क में इस तरह के 2100 से ज्यादा भालू हैं.
  • काटामई नेशनल पार्क वर्ष 1918 में बनाया गया था. यहां नोवारुप्टा ज्वालामुखी वर्ष 1912 में सक्रिय हुआ था जिसकी राख यहां जमी हुई है जिन पर घने जंगल उगे हैं.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.